नये साल के मौके पर पहाड़ी क्षेत्र बना सैलानियों का केंद्र!

नये साल का इस्तेकबाल करने के लिए पहाड़ी क्षेत्रों में सैलानियों का आना तेज हो चुका है. हर साल की तरह इस साल भी हजारों की तादात में सैलानी पहाड़ों की ओर रुख कर रहे हैं. जहां जश्न की पूरी तैयारी की गई है.

नये साल के मौके पर पहाड़ी क्षेत्र बना सैलानियों का केंद्र!

नई दिल्ली: नये साल के जश्न में डूबने के लिए हर कोई पहाड़ों का रुख कर रहा है. ठंड को अनदेखा करते हुए हर कोई NEW YEAR के सेलिब्रेशन की जोरदार तैयारियां कर रहा है. क्वीन ऑफ हिल्स शिमला भी हर तरह से सैलानियों के मनोरंजन के लिए तैयार है.

शिमला में सैलानियों का तांता

भारी संख्या में शिमला आने वाले सैलानियों के कारण ट्रैफिक कंट्रोल मुश्किल हो जाता है. क्योंकि पार्किंग की समस्या रहती है. इसके लिए ट्रैफिक पुलिस आने वाले वाहनों को पार्किंग की जानकारी दे रही है.ताकि यातायात बाधित ना हो.

ट्रैफिक डीएसपी कमल ठाकुर ने ये जानकारी दी कि 'इस बारे में टूरिस्ट को बताया जा रहा है कि शिमला में अगर आप आते हैं को कौन कौन से रोड्स फॉलो करना है. जिस होटल में जा रहे हैं वहां पार्किंग है कि नहीं, अगर नहीं है तो हमने शिमला के एंट्री प्वाइंट पर ही बोर्ड लगा रखा है कि कहां पर पार्किंग की कितनी उपलब्धता है. ताकि उनको कोई दिक्तत ना हो.'

सिगरेट के सेवन पर रोक

ऐतिहासिक रिज मैदान पर हजारों की संख्या में लोग जुटते हैं. शहर के तमाम होटलों में भी मनोरंजन और खाने पीने के ख़ास इंतजामात किए गए हैं. लेकिन जश्न के रंग में भंग ना पड़े. इसके लिए भी पुलिस ने खास इंतजाम किए हैं. पुलिस ने चेतावनी जारी की है कि पब्लिक प्लेस पर शराब और सिगरेट का सेवन ना करें.

शिमला के एसपी ओमवती जामवास ने बताया कि 'हमने लोगों से अपील की है कि पब्लिक प्लेस पर सिगरेट और शराब पीना मना है. इनडोर में जहां अलाउड है वहां पी सकते हैं. जश्न के लिए सभी का स्वागत है. लेकिन इसकी आड़ में हुड़दंग करने वालों के साथ सख्ती से निपटा जाएगा.'

मनाली में सजाए गए बाजार

मनाली में भी पर्यटकों को देखते हुए प्रशासन और टूरिस्ट विभाग ने तैयारी तेज कर दी है. नये साल के स्वागत के साथ साथ कई रंगारंग कार्यक्रम होंगे. जिसके लिए बाजार सजाए जा रहे हैं.

पर्वतीय नगरी मनाली 2020 के स्वागत के लिए पूरी तरह से तैयार हो चुकी है. 31 दिसंबर की रात के लिए मॉलरोड को सजाया जा रहा है और स्टेज बनाया जा रहा है. जहां पर सैलानियों के लिए प्रोग्राम रखे गए हैं. और नये साल के जश्न के लिए पूरे बाज़ार को सजाया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें: नये साल पर 'सफेद' आपातकाल! उत्तर भारत पर 'कोल्ड अटैक'

जाहिर है नये साल के मौके को सेलिब्रेट करने की इच्छा लेकर यहां देश के कोने कोने से पर्यटक आते हैं. और उनकी इच्छा होती है कि इस मौके पर अगर बर्फबारी भी हो, तो आनंद दोगुना हो जाता है. सैलानियों को नये साल का प्रोग्राम अच्छा लगे. इसके लिए पर्यटन विभाग ने लोकनृत्य और लोकगीत का इंतजाम भी किया है. ताकि लोग यहां की संस्कृति से परिचित हो सकें.

कश्मीर के गुलमर्ग में तैयारी तेज

कश्मीर के गुलमर्ग में कैसी तैयारी है नये साल के जश्न की. गुलमर्ग के गोल्फ क्लब मे नये साल को मनाने की पूरी तैयारी की जा चुकी है. नये साल को लेकर गुलमर्ग में सैलानियों की संख्या बढ़ गई है. पर्यटन विभाग तैयारियों में जुटा है. बर्फबारी के कारण और स्कीइंग के लिए भी यहां काफी संख्या में सैलानी आते हैं.

इसे भी पढ़ें: भीषण सर्दी से जान बचाने के 6 प्रमुख उपाय