भगवान द्वारकाधीश को ठंड से बचाने के लिए किए जा रहे हैं उपाय

लोगों को तो ठंड से बचने के लिए कई उपाय बताए जाते हैं लेकिन आज हम आपको बता रहे हैं कि कैसे भगवान द्वारकाधीश को वहां के पुजारी ठंड से बचा रहे हैं.  

भगवान द्वारकाधीश को ठंड से बचाने के लिए किए जा रहे हैं उपाय

गांधीनगर: ठंड से पूरा उत्तर भारत परेशान हैं. ठंड तो है ही उसके साथ ही कोहरे ने भी कहर बरसाना शुरू कर दिया है. लोग घरों से निकलने से बच रहे हैं, ठंड से बचने के लिए तरह-तरह के उपाय कर रहे हैं.

भारतीय नौसेना कर्मी अब नहीं कर सकेंगे फेसबुक यूज, लिंक पर क्लिक कर जानें खबर.

जैसे लोग सर्दी से बचने के लिए उपाय कर रहे हैं ठीक उसी तरह यात्रा धाम द्वारका में भगवान द्वारकाधीश के पुजारी भगवान को ठंड से बचाने के लिए चांदी की सगदी पहनाते हैं ताकि उन्हें गरमी दी जा सके. इसके साथ ही वहां के पुजारी भगवान को ठंड से बचाने के लिए और कई सारे उपाय करते हैं.

पटना में चल रहा है बेबी इन ट्रेंड,लिंक पर क्लिक कर जानें खबर.

ठंड में भगवान द्वारकाधीश को बचाने के लिए किए जाते हैं ये उपाय
ठंडी के मौसम में भगवान द्वारकाधीश को भी शित ऋतु से बचाया जाता है और इसके चलते वहां के पुजारी भगवान द्वारकाधीश को गर्म कपड़े पहनाते हैं. और सुबह मंगला आरती के बाद चांदी की सगडी में भगवान को गर्मी दी जाती है. इसके अलावा भगवान के स्नान के समय और पूजा के लिेए प्रयुक्त किए जाने वाले जल में भी वहां गर्म पानी का उपयोग किया जाता है. भोग के दरम्यान सूठ , लविंग ,जावित्री ,कस्तूरी, केसर, आदि सब चीज भगवान को अर्पण की जाती है. और भोग में सारे पकवान के साथ बैंगन का भरता औेर बाजरे की रोटी भी धराया जाता है. ठीक  ऐसे ही संध्या के समय भगवान द्वारकाधीश को गर्म कपड़े पहनाए जाते हैं और शॉल व रजाई से ढका जाता है. फिर रात को भगवान के सोने के समय फिर से भगवान की चांदी की सगड़ी में उनको गर्मी दी जाती है.