क्या आप लॉकडाउन में भी खाने की होम डिलीवरी कराते हैं? ..तो कहीं कोरोना ना हो जाए

अगर आप भी कोरोना काल में लॉकडाउन की वजह से ऑनलाइन खाना ऑर्डर कर रहे हैं तो ये खबर आपके लिए है और इस खबर को आपको ध्यान से पढ़ना चाहिए, वरना आप भी हो सकते हैं कोरोना के शिकार...

क्या आप लॉकडाउन में भी खाने की होम डिलीवरी कराते हैं? ..तो कहीं कोरोना ना हो जाए

नई दिल्ली: घटना दिल्ली के मालवीय नगर की है जहां Online Pizza Delivery की सुविधा देने वाली एक कंपनी Box-8 के एक Delivery Partner ने पिछले कुछ दिनों में 72 परिवारों में खाने की होम डिलीवरी की थी. जिस लड़के ने होम डिलीवरी की थी वो कोरोना पॉजिटिव निकला है और अब होम डिलीवरी पाने वाले उन 72 परिवारों की ज़िंदगी खतरे में है.

कहीं आपके आस-पास कोरोना की 'होम डिलीवरी' तो नहीं हो रही है?

साउथ दिल्ली में एक पिज़्ज़ा डिलीवरी ब्वॉय के कोरोना पॉजिटिव होने से आज 72 परिवार खतरे में हैं और वो 17 लोग भी जो उस डिलीवरी ब्वॉय के साथ मालवीय नगर के एक पिज़्ज़ा आउटलेट में काम करते थे. डिलीवरी ब्वॉय ने पिछले कुछ दिनों में हौजखास और मालवीय नगर के 72 घरों में जाकर पिज्जा की डिलीवरी की थी. अब उन 72 परिवारों को क्वारंटीन कर दिया गया है. उसके साथ काम करने वाले 14 साथियों को भी क्वारंटीन में भेज दिया गया है.

बताया जा रहा है कि पिज्जा डिलीवरी ब्वॉय को पिछले एक महीने से खांसी और बुखार था. 23 मार्च को उसमें कोरोना संक्रमण के लक्षण पाये गए. जिसके बाद डॉक्टर की सलाह पर उसका कोरोना टेस्ट कराया गया.

लॉकडाउन में क्यों नहीं पहनते हैं मास्क?

हैरानी की बात तो ये है कि कोरोना के लक्षण पाए जाने के बाद भी डिलीवरी ब्वॉय लोगों को घरों में पिज्जा पहुंचाता रहा. स्थानीय लोगों का आरोप है कि पिज्जा डिलीवरी ब्वॉय न तो मास्क पहनते थे और ना ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते थे.

यानी होम डिलीवरी के इस मामले में कदम-कदम पर लापरवाही बरती गई और फूड आउटलेट पर भरोसा कर पिज्जा ऑर्डर करने वाले परिवारों की जान खतरे में डाला गया.

ऑनलाइन डिलीवरी में 7 बातों का रखें ध्यान

देश भर में लॉकडाउन है लेकिन खाना या सब्जी या फलों की ऑनलाइन डिलीवरी की इजाजत सरकार ने दी हुई है. लेकिन कोरोना काल में ये ऑनलाइन डिलीवरी, संबंधित दुकानों या कंपनियों की वजह से बड़ा खतरा है. इसलिए इस वक्त होम डिलीवरी वाले संक्रमण से आप जितनी दूरी बना लें. ये आपके लिए, आपके परिवार के लिए, आपकी सोसायटी के लिए उतना ही अच्छा रहेगा.

लेकिन फिर भी अगर आप ऑनलाइन डिलीवरी चाहते हैं तो 7 बातें ऐसी हैं जिनका ख्याल रखना बहुत जरूरी है.

1. कैश की जगह डिजिटल पेमेंट करें
2. डिलीवरी ब्वॉय से 6 फीट की दूरी जरूर रखें
3. सोसायटी या घर के बाहर सामान रखने को कहें
4. डिलीवरी पैकेट को सैनिटाइज करें
5. खाने का पैकेट है तो उसे अच्छे से गरम कर लें
6. खाने के पैकेट या बॉक्स को घर में ना रखें
7. फल या सब्जियां हैं तो उसे अच्छे से धोकर रखें

अगर किसी होम डिलीवरी ब्वॉय में कोरोना संक्रमण के लक्षण पाये जाते हैं. अगर वो कोरोना संक्रमित है तो समझिए कि इससे और कितने घरों तक कोरोना वायरस पहुंचेगा. कितने परिवार कोरोना संक्रमित हो सकते हैं और इस संक्रमण का गणित एक से 11 नहीं असंख्य तक हो सकता है.

मान लीजिए अगर एक कोरोना संक्रमित व्यक्ति रोजाना 5 या 10 लोगों तक खाने का सामान पहुंचाता है तो आप समझ सकते हैं कि कोरोना वायरस कहां-कहां तक फैलेगा और कितने लोगों में फैलेगा.

इसे भी पढ़ें: क्या कुत्तों ने चमगादड़ से लेकर इंसानों को दिया कोरोना?

बड़ी बात ये भी है कि लॉकडाउन 2.0 में सरकार ने इलेक्ट्रिशियन, प्लंबर जैसे लोगों को भी छूट दी है. यानी अब आप अपने घरों में इलेक्ट्रिशियन या प्लंबर को भी बुला सकते हैं संबंधित काम के लिए. सामाजिक दूरी का पालन करते समय हमें बहुत ध्यान देना होगा.

इसे भी पढ़ें: कोरोना ने चीनी अर्थव्यवस्था पर भी किया है करारा हमला

इसे भी पढ़ें: 24 घंटे 2600 मौत के बावजूद आखिर ट्रंप को क्यों लगता है कि बुरा वक्त खत्म हो चुका?