close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्‍ली में पकड़ा गया ड्रग्‍स का बड़ा जखीरा, स्‍पेशल सेल ने बरामद की 344 करोड़ की हेरोइन

दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल ने 82.5 किलो हेरोइन जब्‍त कर 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए आरोपियों के तार अफगानिस्‍तान से अमेरिका तक जुड़े हुए हैं. 

दिल्‍ली में पकड़ा गया ड्रग्‍स का बड़ा जखीरा, स्‍पेशल सेल ने बरामद की 344 करोड़ की हेरोइन

नई दिल्‍ली: नौजवानों के रगों में ड्रग्‍स का जहर घोलने वाले दो अंतरराज्‍यीय‍ गिरोह का भंडाफोड़ कर दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल ने 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. डीसीपी संजीव कुमार यादव की टीम द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान मोहम्‍मद सिकंदर, मोहम्‍मद उमर, अंकुश, अमित, मुकेश के रूप में हुई है. मोहम्‍मद सिकंदर और मोहम्‍मद उमर मणिपुर के रहने वाले हैं, जबकि अन्‍य आरोपी दिल्‍ली के व‍िभिन्‍न इलाकों के रहने वाले हैं. क्राइम ब्रांच ने इनके कब्‍जे से करीब 36 किलो हेरोइन बरामद की है. जिसकी अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में कीमत करीब 344 करोड़ रुपए से अधिक आंकी गई है. 

वहीं डीसीपी प्रमोद कुशवाहा की टीम ने ड्रग्‍स पैडलिंग के दो अलग-अलग मामलों में 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पहले मामले में महिला सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर 180 करोड़ रुपए की 44.5 किलो हेरोइन बरामद किया गया. गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान असम निवासी शमुता बानो, बिहार निवासी धीरज कुमार और धानजी गुप्‍ता के रूप में हुई है. वहीं दूसरे मामले में, स्‍पेशल सेल की टीम ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर 10 करोड़ रुपए कीमत की 2.5 किलो हेरोइन बरामद की है. 

यह भी पढ़ें: सेब के बहाने दिल्ली में अवैध तरीके से लाया जा रहा था ड्रग्स, एक शख्स गिरफ्तार

स्‍पेशल सेल के डिप्‍टी कमिश्‍नर ऑफ पुलिस संजीव कुमार यादव ने बताया कि दिल्‍ली-एनसीआर में नॉरकोटिक्‍स ड्रग्‍स माफिया के सक्रिय होने की सूचना मिलने के बाद स्‍पेशल सेल की कई टीम को कार्रवाई के लिए लगाया गया था. खुफिया जानकारी के आधार पर स्‍पेशल सेल ने नॉरकोटिक्‍स ड्रग्‍स माफिया के खिलाफ दो ऑपरेशन किए. उन्‍होंने बताया कि दोनों ऑपरेशन सफल रहे और भारी तादाद में ड्रग्‍स बरामद करने में स्‍पेशल सेल को सफलता मिली. उन्‍होंने बताया कि इस ऑपरेशन को सफल बनाने के लिए स्‍पेशल की टीम बीते 6 महीनों से काम कर रही थी. छह महीने पहले स्‍पेशल सेल के इंस्‍पेक्‍टर पूरनपंत को सूचना मिली थी कि बरेली (उत्‍तर प्रदेश) के नवाबगंज शहर का रहने वाला मामू नामक शख्‍स ड्रग्‍स के गोरखधंधे को चला रहा है. 

यह भी पढ़ें: दिल्ली पुलिस ने किया इंटरनेशनल ड्रग रैकेट का भंडाफोड़, इस शातिर तरीके से होती थी तस्करी

स्‍पेशल सेल की टीम ने टेक्निकल और मैनुअल सर्विलांस की मदद से इस गिरोह के लोगों की पहचान करना शुरू की. करीब छह महीने की कड़ी मेहनत के बाद स्‍पेशल सेल ने इस गिरोह को चलाने वाले मोहम्‍मद सिकंदर और मोहम्‍मद उमर की पहचान कर ली. जांच के दौरान, स्‍पेशल सेल को यह भी जानकारी मिली कि यह गिरोह शिपमेंट के जरिए मयम्‍मार, अफगानिस्‍तान सहित दूसरे खाडी देशों से ड्रग्‍स भारत लेकर आते हैं. ड्रग्‍स को भारत लाने के बाद विभिन्‍न माध्‍यमों से अमेरिका सहित पश्चिमी देशों के लिए सप्‍लाई किया जाता है. 8 मार्च को स्‍पेशल सेल को जानकारी मिली कि मामू के जानकार नासिर मिया को ड्रग्‍स का बड़ा कंसाइमेंट मिलने वाला है. 

यह भी पढ़ें: दिल्ली हाई कोर्ट ने दवाओं की ऑनलाइन बिक्री पर रोक लगाई

स्‍पेशल सेल को अपने मुखबिरों के जरिए यह भी जानकारी मिली कि ड्रग्‍स की डिलीवरी रात 10.30 बजे से 11.30 बजे के बीच दिल्‍ली के प्रहलादपुर मोड़ पर होने वाली है. सूचना के आधार पर स्‍पेशल सेल की टीम ने इलाके की घेराबंदी कर मोहम्‍मद सिकंदर और मोहम्‍मद उमर को 32 किलो हेरोइन के साथ गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ के दौरान मोहम्‍मद उमर और मोहम्‍मद सिकंदर ने बताया कि उन्‍हें यह हेरोइन गुवहाटी में मुकुंद नामक शख्‍स ने उपलब्‍ध कराई थी. गिरोह के सरगना मामू ने उन्‍हें यह कंसाइनमेंट दिल्‍ली के कांटैक्‍ट को देने के लिए कहा था. डीसीपी संजीव कुमार यादव ने बताया कि दोनों आरोपियों से मिली जानकारी और सर्विलांस से मिले इनपुट के बाद दूसरा ऑपरेशन शुरू किया गया. 

यह भी पढ़ें: ड्रग्स कारोबार का बड़ा अड्डा बना दिल्ली, 3 दिन के अंदर पुलिस ने 180 करोड़ के पकड़े ड्रग्स

इस ऑपरेशन के तहत 13 मार्च को सूचना मिली कि इसी गिरोह के दो गुर्गे हेरोइन लेकर रोहिणी के वीर अपार्टमेंट के करीब पहुंचने वाले हैं. सूचना के आधार पर पुलिस ने इलाके की घेरे बंदी कर अंकुश और अमित नामक दो आरोपियों को गिरफ्तार किया. इनके कब्‍जे से चार किलो हेरोइन बरामद की गई. दिल्‍ली में इतनी भारी तादाद में हेरोइम की मौजूदगी पाकर स्‍पेशल सेल की अन्‍य यूनिट्स भी ड्रग्‍स सिंडीकेट का पर्दाफाश करने की कवायद में जुट गई. जल्‍द ही स्‍पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा की टीम को भी बड़ी सफलता मिल गई. डीसीपी प्रमोद कुशवाहा की टीम ने दिल्‍ली से 180 करोड़ रुपए की 44.5 किलो हेरोइन बरामद कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. 

यह भी पढ़ें: टीवी और फिल्मों की इस मशहूर एक्ट्रेस को पुलिस ने किया ड्रग्स के साथ गिरफ्तार

स्‍पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने बताया कि 7 मार्च को सूचना मिली कि धानजी गुप्‍ता और धीरज कुमार ने असम से ड्रग्‍स का बड़ा कंसाइनमेंट हासिल किया है, दोनों इस कंसाइनमेंट को अपने एक जानकार तक पहुंचाने के लिए दिल्‍ली आ चुके हैं. खुफिया जानकारी के आधार पर स्‍पेशल सेट की टीम ने रिंग रोड के इंद्रप्रस्‍थ पार्क के करीब घेरेबंदी कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ के दौरान दोनों आरोपियों ने स्‍पेशल सेल को ड्रग्‍स के धंधे में शामिल एक महिला के बाबत जानकारी दी. दोनों आरोपियों की शिनाख्‍त के आधार पर पुलिस टीम ने 12 मार्च को शमुता बानो नामक महिला को भी गिरफ्तार कर लिया. 

यह भी पढ़ें: हर्बल प्रोडक्ट के नाम पर नशे का काला कारोबार, यूं विदेश भेजी जा रही थी ड्रग्स

स्‍पेशल सेल ने इन तीनों के कब्‍जे से कुल 44.5 किलो हेराइन बरामद की गई. जिसकी अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में कीमत करीब 180 करोड़ रुपए आंकी गई है. डीसीपी प्रमोद कुमार कुशवाहा ने बताया कि ड्रग्‍स से जुडे़ एक अन्‍य मामले में उनकी टीम ने 2.5 किलो हेरोइन के साथ दो आरोपियों को लाजपत नगर इलाके से गिरफ्तार किया है.