दिल्ली: जामिया में ZEE न्यूज़ की टीम के साथ फिर बदसलूकी, रिपोर्टर के साथ की धक्का-मुक्की

इससे पहले 15 दिसंबर को भी जामिया और जेएनयू के छात्रों ने दिल्ली पुलिस मुख्यालय पर प्रदर्शन के दौरान ज़ी न्यूज संवाददाता के साथ बदसलूकी की थी.

दिल्ली: जामिया में ZEE न्यूज़ की टीम के साथ फिर बदसलूकी, रिपोर्टर के साथ की धक्का-मुक्की

नई दिल्ली: नागरिकता (संशोधन) कानून (Citizenship Amendment Act)  के खिलाफ प्रदर्शन की आशंका को देखते हुए जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी परिसर में रिपोर्टिंग के दौरान ZEE न्यूज़ के संवाददाता के साथ बदसलूकी की खबर है. जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के गार्डों ने ज़ी मीडिया संवाददाता अश्विनी कुमार गुप्ता के साथ धक्का-मुक्का की और ज़ी न्यूज की ओबी वैन को वहां से हटाने के लिए कहा है.

बता दें कि आज सुबह से ही ज़ी न्यूज की टीम जामिया से लगातार आपको पल-पल की अपडेट देने में जुटी है. ग्राउंड जीरो से हमारे संवाददाता ने पहले ही बता दिया था कि आज जामिया एक बार फिर विरोध प्रदर्शन हो सकता है. 

सुबह 11 बजे के करीब जामिया में लोगों को जुटना हो गया. इनमें ज्यादातर स्थानीय लोग शामिल थे. इसी दौरान जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के गार्डों ने ज़ी न्यूज के रिपोर्टर के साथ बदसलूकी की और उन्हें वहां से जाने के लिए कहा.

यह भी पढ़ें- जामिया हिंसा: पुलिस मुख्यालय के बाहर छात्रों का प्रदर्शन, ZEE NEWS संवाददाता के साथ बदसलूकी

बता दें कि इससे पहले 15 दिसंबर को भी जामिया और जेएनयू के छात्रों ने दिल्ली पुलिस मुख्यालय पर प्रदर्शन के दौरान ज़ी न्यूज संवाददाता के साथ बदसलूकी की थी. प्रदर्शनकारियों छात्रों ने ZEE NEWS संवाददाता से बदसलूकी की. ZEE न्यूज़ संवाददाता रवि त्रिपाठी ने जब छात्रों से यह सवाल पूछा गया कि जामिया नगर में बसों में आग किसने लगाई? तो वह इसका जवाब नहीं दे सके बल्कि बदसलूकी पर उतर आए. इस प्रदर्शन में जामिया के अलावा जेएनयू और कई अन्य विश्वविद्यालय के छात्र शामिल हुए थे. 

यह भी पढ़ें- दिल्ली: विरोध-प्रदर्शन की आशंका, पुलिस ने डाइवर्ट किया ट्रैफिक

कई राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि और नेता भी इस दौरान पुलिस मुख्यालय में पहुंचे थे. बता दें कि दिल्ली मध्य के पुलिस उपायुक्त मनदीप सिंह रंधावा ने सोमवार (16 दिसंबर) को कहा कि जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में प्रदर्शनकारी छात्रों और पुलिस के बीच रविवार को हुए संघर्ष में 30 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. उन्होंने कहा कि इस दौरान लगभग 100 निजी वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं. उन्होंने कहा कि इस दौरान 39 प्रदर्शनकारी घायल हुए हैं. उन्होंने बताया कि मामले की जांच अपराध शाखा को सौंप दी गई है.