close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: LoC पर घुसपैठ कर रहे थे 5-6 पाकिस्तानी आतंकी, भारतीय सेना ने बरसाईं गोलियां, फिर

आतंकवादी एलओसी पार कर भारतीय चौकियों पर हमला करने के फिराक में थे. 

VIDEO: LoC पर घुसपैठ कर रहे थे 5-6 पाकिस्तानी आतंकी, भारतीय सेना ने बरसाईं गोलियां, फिर

नई दिल्ली/श्रीनगर: भारतीय सेना (Indian Army) ने घुसपैठ की एक बड़ी साजिश को नाकाम किया है. घुसपैठ (infiltration) की यह कोशिश 30 जुलाई को की गई थी. एलओसी (Loc) के पास कुपवाड़ा (Kupwara) सेक्टर में हुई घुसपैठ की एक नाकाम कोशिश एक वीडियो सामने आया है. इस वीडियो में पाकिस्तानी घुसपैठियों को घुसपैठ की कोशिश करते देखा जा सकता है. 

भारतीय सेना ने को आतंकियों की इस नापाक हरकत की भनक लग गई. इसके बाद भारतीय सेना ने फायरिंग शुरू कर दी जिसने घुसपैठियों को लौटने पर मजूबर कर दिया. 

जैसे ही सेना आतंकियों के बारे में पता चला सेना ने फायरिंग शुरू कर दी और आतंकवादियों को वापस लौटने पर मजबूर कर दिया. आतंकवादी एलओसी पार कर भारतीय चौकियों पर हमला करने के फिराक में थे. 

12-13 सितंबर की मध्यरात्री में भी हुई थी घुसपैठ कोशिश
बता दें इससे पहले भारतीय सेना ने 12 और 13 सितंबर की मध्यरात्रि पाकिस्तान की ओर से एलओसी के समीप घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया था और इसके अलावा सेना ने एक संदिग्ध बैट कमांडो को घुसपैठ की कोशिश के दौरान मार गिराया था. सेना ने इस घटना का एक वीडियो भी जारी किया था, जिसे एक हैंड-हेल्ड थर्मल इमेजर के जरिए कैद किया गया था.

सुरक्षा एजेंसियों ने संदेह जताया था कि घुसपैठिए पाकिस्तान के विशेष सेवा समूह के बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) के कमांडो हो सकते हैं. घटना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर(पीओके) के हाजीपीर सेक्टर में हुई.

इस माह की शुरुआत में सेना ने हाजीपीर सेक्टर के पास दो पाकिस्तानी जवानों को ढेर कर दिया था. शवों को पाकिस्तानी सेना सफेद झंडे दिखाकर अपने साथ ले गई थी. एक सैन्य अधिकारी ने कहा, 'उसी क्षेत्र में, पाकिस्तान ने 11 एवं 12 सितंबर की रात्रि और फिर 12 एवं 13 सितंबर की रात्रि को घुसपैठ करने की कोशिश की. यह प्रयास बैट की ओर से किया गया प्रयास हो सकता है.'

उन्होंने कहा, 'यह क्षेत्र कथित रूप से पाकिस्तानी विशेष सेवा समूह के जवानों के पास है. इन घुसपैठियों ने सीमा में प्रवेश का प्रयास किया जिसकी वजह से 12 और 13 सितंबर की रात्रि एक और पाकिस्तानी जवान मारा गया.' भारतीय सेना की ओर से ग्रेनेड से हमला कर इस प्रयास को विफल कर दिया गया.

इससे पहले जुलाई के अंतिम सप्ताह में भी बैट के एक जवान की घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया गया था. एलओसी के समीप अग्रिम चौकी के पास पड़े पांच बैट कमांडो के शवों पर भी पाकिस्तान ने अभी तक दावा नहीं किया है.