Happy Hug Day 2019: गले लगाने के फायदे जान रोज उन्हें देना चाहेंगे जादू की झप्पी

 प्यार और अपनापन जाहिर करने के लिए किसी को गले लगाना यानि की जादू झप्पी देना किसी संजीवनी से कम नहीं हैं. 

Happy Hug Day 2019: गले लगाने के फायदे जान रोज उन्हें देना चाहेंगे जादू की झप्पी

नई दिल्ली: वैलेंटाइन्स वीक का पांचवां दिन हग डे यानि की प्रेमियों को गले लगाने का होता है. वैसे तो इस सप्ताह का हर दिन बेहद खास होता है, लेकिन अपने इश्क को सीने से लगाने का एहसास शायद ही शब्द बया कर पाते हैं. Hug को उर्दू में आगोश भी कहा जाता है, और गले लगाने पर उर्दू शायरों ढेरों शेर कहे हैं. प्यार और अपनापन जाहिर करने के लिए किसी को गले लगाना यानि की जादू झप्पी देना किसी संजीवनी से कम नहीं हैं. मन कितना भी उदास क्यों न हो, जब एक बार कोई शख्स प्यार से आकर गले लगा ले और कह दे कि वो आपके साथ खड़ा है, तो सुनकर ही दिलों- दिमाग को आराम मिल जाता है.  प्यार और अपनापन जाहिर करने के लिए किसी को गले लगाना यानि की जादू झप्पी देना किसी संजीवनी से कम नहीं हैं. 

गले लगाना वैसे तो एक साधारण प्रक्रिया है, लेकिन इस पर अब तक कई सारे शोध हो चुक हैं. अब तक के हुए शोधों में ये बात सामने आई है कि किसी को गले लगाने के बड़े ही फायदे हैं, चाहे वो सेहत के लिहाज से हो या फिर प्यार के लिहाज से. तो हग डे पर आइए जानते हैं किसी को गले लगाने के क्या फायदे होते हैं. 

- सर्वे के मुताबिक वैज्ञानिकों को पता चला है कि जब आप अपने साथी को गले लगाते हैं, तो इससे रक्त में एक हार्मोन ऑक्सीटोसिन का स्राव होता है. इससे उच्च रक्तचाप में कमी आती है, तनाव और बेचैनी कम होती है और इससे आपकी स्मरण शक्ति भी बेहतर होती है.

- विएना विश्वविद्यालय के शोध के मुताबिक आपको किसी को गले लगाते वक्त हालांकि सावधानी बरतनी चाहिए. आप उसी को गले लगाएं, जिसे बहुत अच्छी तरह जानते हैं, वरना इसका उल्टा प्रभाव भी हो सकता है.

- ऑक्सीटोसिन को माता-पिता, बच्चे और दम्पतियों के बीच आपसी प्यार बढ़ाने के लिए प्रमुख कारक माना जाता है. सक्रिय सम्बंध में रह रहे साथियों के बीच ऑक्सीटोसिन का स्तर अधिक पाया जाता है.

- महिलाओं में बच्चे को जन्म देते वक्त और स्तनपान कराते वक्त इस हार्मोन का स्राव होता है, जिससे माता और बच्चे के बीच लगाव बढ़ता है.

- शोधार्थियों के मुताबिक अपने प्रियजनों को गले लगाने वाले व्यक्ति के स्वभाव का रूखापन भी समाप्त होता है और उसमें समय के साथ मधुरता का विकास होता है.

- न्यूरोफिजियोलॉजिस्ट जार्गेन सेंडकालेर ने कहा कि गले लगाने का फायदा हालांकि तभी मिलता है, जब गले लगने वाले दोनों व्यक्ति एक दूसरे को जानते हों और एक दूसरे पर भरोसा करते हों.

- उन्होंने कहा कि यदि गले लगने वाले व्यक्ति एक दूसरे को नहीं जानते या दोनों में से एक गले नहीं लगना चाहे तो इसका कोई फायदा नहीं मिल पाता है. उल्टे इससे बेचैनी बढ़ जाती है.