kohinoor

भारत के बाद अब पाकिस्तान ने कोहिनूर हीरा पर जताया हक, कहा- हमारा है

105 कैरट का यह हीरा बीते डेढ़ सौ साल से ब्रिटिश राजशाही के पास है. 

Apr 11, 2019, 11:55 PM IST

जानें, कैसे ईरान से कोहिनूर दोबारा भारत पहुंचा और फिर कैसे हमेशा के लिए ब्रिटेन पहुंचा

अब तक आपने देखा कि कोहिनूर हीरा कैसे भारत की धरती से निकल कर ईरान पहुंच गया और कैसे ईरान पहुंचकर भी इसकी शापित प्रकृति जस की तस रही. आज हम आपको बताएंगे कि कैसे ये हीरा दोबारा सरजमीन-ए-हिन्दुस्तान में वापस लौटा और कैसे एक बार फिर इस धरती से निकल कर हमेशा-हमेशा के लिए सात समंदर पार ब्रिटेन पहुंच गया. देखना ना भूलें ज़ी हिन्दुस्तान की खास पेशकश 'मैं भारत हूं' शनिवार और रविवार रात 9:25 बजे...

Jan 26, 2019, 09:35 PM IST

जानें, कैसे कोहिनूर हीरे के प्रति प्रेम ने मुगलों के गौरव को मटियामेट किया

कोहिनूर हीरा अभिशप्त था इसमें तो किसी को शायद ही संदेह हो. हम शुरू से ही आपको बता रहे हैं कि पुरुष शासकों के लिए ये हीरा सदा ही बदकिस्मती का पैगाम ले कर आया. आज हम आपको बताएंगे कि कैसे औरंगजेब के पोते मोहम्मद शाह के इस अभिशप्त हीरे के प्रति प्रेम ने मुगलों के गौरव को मटियामेट कर दिया. देखना ना भूलें ज़ी हिन्दुस्तान की खास पेशकश 'मैं भारत हूं' शनिवार और रविवार रात 9:25 बजे...

Jan 26, 2019, 03:42 PM IST

जानें, कैसे कोहिनूर शाहजहां के मोहब्बत पर भारी पड़ा

कोहिनूर की माया अकबर की तरह जहांगीर पर भी हावी नहीं हो पाई थी और उसने भी शायद कोहिनूर को शाही खजाने में ही दफ्न रहने दिया. लेकिन जहांगीर के बेटे शाहजहां के मन में रत्नों के लिए जबरदस्त आशक्ति थी. 24 फरवरी 1628 को हिन्दुस्तान के सिंहासन पर बैठते ही शाहजहां को शाही खजाने में दफ्न कोहिनूर की अनोखी चमक मोहित करने लगी. लेकिन कोहिनूर को लेकर शाहजहां का मोह उसकी मोहब्बत पर भारी पड़ गया. देखना ना भूलें ज़ी हिन्दुस्तान की खास पेशकश 'मैं भारत हूं' शनिवार और रविवार रात 9:25 बजे...

Jan 19, 2019, 11:49 PM IST

अकबर ने अनमोल हीरे कोहिनूर से खुद को क्यों दूर रखा?

27 जनवरी 1556 को हुमायूं की मौत के बाद उसके बेटे अकबर की हिन्दुस्तान के शहंशाह के तौर पर ताजपोशी हुई. लेकिन अकबर ने हिन्दुस्तान पर 49 साल तक निष्कंटक राज किया. अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर अकबर पर कोहिनूर का अपशकुन क्यों हावी नहीं हुआ. ये जानना भी कम दिलचस्प नहीं है. देखना ना भूलें ज़ी हिन्दुस्तान की खास पेशकश 'मैं भारत हूं' शनिवार और रविवार रात 9.25 बजे

Jan 18, 2019, 11:14 PM IST

क्या पुराणों की स्यमंतक मणि ही कोहिनूर है? जानें...

पौराणिक आख्यानों से लेकर ऐतिहासिक दस्तावेजों तक में स्यमंतक मणि की कथा उलझी हुई है. हिन्दुस्तान में मुगल वंश की स्थापना करने वाले बाबर के पास तो कोहिनूर हीरे के रूप में ये 1526 में पहुंची लेकिन उसके पहले इसकी ऐतिहासिक कड़ियां टूटती बिखरती और फिर आपस में जुड़ती रही हैं, जो अपने आप में बेहद रोचक हैं. देखिये 'मैं भारत हूं' में कहानी कोहिनूर की... देखना ना भूलें ज़ी हिन्दुस्तान की खास पेशकश 'मैं भारत हूं' शनिवार और रविवार रात 9.25 बजे

Jan 11, 2019, 09:28 PM IST

'महाभारत' के इस परम पराक्रमी को मारकर अर्जुन ने लिया था 'कोहिनूर'

कहानी कोहिनूर की, एक ऐसी कहानी जिसका एक सिरा पौराणिक इतिहास में पसरा हुआ है. स्यमंतक मणि के रूप में, तो दूसरा सिरा हमारे इतिहास का अहम हिस्सा है, कोहिनूर के नाम से, पौराणिक आख्यानों से प्रामाणिक इतिहास की कड़ियों को जोड़ना हमेशा से ही बड़ी चुनौती रही है. लेकिन स्यमंतक मणि और कोहिनूर हीरे के बीच ऐसी समानता देखने को मिलती है कि पौराणिक आख्यान और ऐतिहासिक दस्तावेज एक दूसरे में घुले-मिले से नजर आते हैं. देखिये 'मैं भारत हूं' में कहानी कोहिनूर की...

Jan 11, 2019, 09:21 PM IST

मैं भारत हूं : 1739 में भारत से बाहर कैसे चला गया कोहिनूर?

दास्तान-ए-कोहिनूर अब अपने आखिरी मुकाम के करीब पहुंच चुका है. लेकिन आखिरी मुकाम तक पहुंचते-पहुंचते भी इसने अनेक गुल खिलाए. नादिरशाह की मौत के बाद ये हीरा अफगानिस्तान की धरती पर पहुंच गया लेकिन वहां के शासकों को भी उसने चैन से नहीं रहने दिया. देखिये 'मैं भारत हूं' में कहानी कोहिनूर की...

Jan 10, 2019, 12:28 AM IST

मैं भारत हूं : शाहजहां ने कोहिनूर को मयूर सिंहासन में जड़वाया, इसे बनवाने में ताजमहल से चार गुना खर्च

कोहिनूर जड़ित तख्त पर पहली बार आसीन होने के लिए शाहजहां ने राज ज्योतिषियों से सलाह मशविरा कर 22 मार्च 1635 की तारीख मुकर्रर की. वो दिन ईद-उल-फितर के साथ नौरोज का भी था पर सब के बाद कोहिनूर का शापित कलंक ग्रह नक्षत्र के उत्तम योग की गणना पर भारी पड़ गया. उसी साल बीजापुर के राजा ने शाही फरमान को मानने से इंकार कर दिया और युद्ध की नौबत आ गई. देखिये 'मैं भारत हूं' में कहानी कोहिनूर की...

Jan 10, 2019, 12:21 AM IST

मैं भारत हूं : अकबर की तरह औरंगजेब ने खुद को कोहिनूर से क्यों दूर रखा?

बहरहाल सबसे बड़ा सवाल तो ये है कि औरंगजेब के पास जब ये अभिशप्त हीरा था तो उसने कैसे पूरे 49 साल हिन्दुस्तान पर हुकूमत की. कहा ये जाता है कि तराशने के बाद जब कोहिनूर महज 186 कैरेट का रह गया तो औरंगजेब ने इस हीरे को लाहौर की बादशाही मस्जिद में रखवा दिया. इस तरह वो कोहिनूर के मनहूस साए की जद में आने से बच गया. देखिये 'मैं भारत हूं' में कहानी कोहिनूर की...

Jan 10, 2019, 12:21 AM IST

मैं भारत हूं : अकबर ने अनमोल हीरे कोहिनूर से खुद को क्यों दूर रखा?

27 जनवरी 1556 को हुमायूं की मौत के बाद उसके बेटे अकबर की हिन्दुस्तान के शहंशाह के तौर पर ताजपोशी हुई. लेकिन अकबर ने हिन्दुस्तान पर 49 साल तक निष्कंटक राज किया. अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर अकबर पर कोहिनूर का अपशकुन क्यों हावी नहीं हुआ. ये जानना भी कम दिलचस्प नहीं है. देखिये 'मैं भारत हूं' में कहानी कोहिनूर की...

Jan 9, 2019, 09:28 PM IST

मैं भारत हूं : क्या पुराणों की स्यमंतक मणि ही कोहिनूर है?

पौराणिक आख्यानों से लेकर ऐतिहासिक दस्तावेजों तक में स्यमंतक मणि की कथा उलझी हुई है. हिन्दुस्तान में मुगल वंश की स्थापना करने वाले बाबर के पास तो कोहिनूर हीरे के रूप में ये 1526 में पहुंची लेकिन उसके पहले इसकी ऐतिहासिक कड़ियां टूटती बिखरती और फिर आपस में जुड़ती रही हैं, जो अपने आप में बेहद रोचक हैं. देखिये 'मैं भारत हूं' में कहानी कोहिनूर की...

Jan 9, 2019, 09:21 PM IST

मैं भारत हूं : कर्ण को मारकर अर्जुन ने लिया था 'कोहिनूर'

कहानी कोहिनूर की, एक ऐसी कहानी जिसका एक सिरा पौराणिक इतिहास में पसरा हुआ है. स्यमंतक मणि के रूप में, तो दूसरा सिरा हमारे इतिहास का अहम हिस्सा है, कोहिनूर के नाम से, पौराणिक आख्यानों से प्रामाणिक इतिहास की कड़ियों को जोड़ना हमेशा से ही बड़ी चुनौती रही है. लेकिन स्यमंतक मणि और कोहिनूर हीरे के बीच ऐसी समानता देखने को मिलती है कि पौराणिक आख्यान और ऐतिहासिक दस्तावेज एक दूसरे में घुले-मिले से नजर आते हैं. देखिये 'मैं भारत हूं' में कहानी कोहिनूर की...

Jan 9, 2019, 09:14 PM IST

मैं भारत हूं : पवित्र महिला या सूर्य का भक्त ही रख सकते थे स्यमंतक मणि

स्यमंतक मणि की आगे की कथा जानने के लिए हमें चलना होगा भागवतमहापुराण के दसवें स्कंध के 57वें अध्याय में, जिसमें इस बात का जिक्र है कि कैसे इस मणि की वजह से ही श्रीकृष्ण का सत्राजित की पुत्री सत्यभामा के साथ विवाह हुआ और इसी मणि की वजह से सत्राजित की हत्या भी हो गई. स्यमंतक मणि सत्राजित को सौंपने के बाद श्रीकृष्ण को द्वारिकानगरी से 1300 किलोमीटर दूर स्थित हस्तिनापुर से एक अत्यंत अशुभ समाचार मिलता है. वो ये कि लाक्षागृह की आग में कुन्ती और पांडव जलकर भस्म हो गए हैं. शोक समाचार मिलते ही श्रीकृष्ण अविलंब द्वारिका से हस्तिनापुर के लिए प्रस्थान कर देते हैं. देखिये 'मैं भारत हूं' में कहानी कोहिनूर की...

Jan 9, 2019, 09:14 PM IST

मैं भारत हूं : 'कोहिनूर' के लिए कृष्ण-जामवंत के बीच हुई थी लड़ाई

कहानी उस कोहिनूर की जो फिलहाल ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ के पास है. लेकिन उसके उद्गम की तलाश करते-करते हम पहुंच गए महाभारत काल में. महाभारत के दसवें स्कंध के 56वें अध्याय में एक अत्यंत तेजपुंज मणि का वर्णन है, 'स्यमंतक मणि', जिसे देख सुनकर आप ये सोचने को मजबूर हो जाएंगे कि सल्तनत काल, मुगल काल और औपनिवेशिक भारत में सत्ता, शासन, वैभव के साथ युद्ध और छल-कपट का प्रतीक रहा कोहिनूर कैसे पौराणिक काल में स्यमंतक मणि महत्वकांक्षाओं के केंद्र में रही. देखिये 'मैं भारत हूं' में कहानी कोहिनूर की...

Jan 9, 2019, 09:00 PM IST

मैं भारत हूं : कहानी कोहिनूर की जिसे हर व्यक्ति को जानना चाहिए

स्यमंतक मणि सत्राजित को सौंपने के बाद श्रीकृष्ण को द्वारिकानगरी से 1300 किलोमीटर दूर स्थित हस्तिनापुर से एक अत्यंत अशुभ समाचार मिलता है. वो ये कि लाक्षागृह की आग में कुन्ती और पांडव जलकर भस्म हो गए हैं. शोक समाचार मिलते ही श्रीकृष्ण अविलंब द्वारिका से हस्तिनापुर के लिए प्रस्थान कर देते हैं. उधर भगवान श्रीकृष्ण हस्तिनापुर जाते हैं और इधर द्वारिका में स्यमंतक मणि को लेकर नए षडयंत्र रचे जाने लगते हैं. यहां देखें कहानी कोहिनूर की... देखना ना भूलें हमारी खास पेशकश 'मैं भारत हूं' शनिवार और रविवार रात 9.25 बजे...

Jan 5, 2019, 08:28 PM IST

ZEE जानकारीः कोहिनूर पर भारत का दावा अब और मजबूत

कोहिनूर... भारत की एक खादान से निकला था... ये हीरा भारत का ही है लेकिन करीब 160 वर्षों से ये हीरा ब्रिटेन की महारानी के ताज में चमक रहा है 

Oct 19, 2018, 12:20 AM IST

कोहिनूर को वापस लाने के प्रयासों की जानकारी दे PMO, विदेश मंत्रालय : सीआईसी

सीआईसी ने PMO और विदेश मंत्रालय से कोहिनूर हीरे जैसी प्राचीन बेशकीमती वस्तुओं को वापस लाने के प्रयासों का खुलासा करने का निर्देश दिया है. 

Jun 3, 2018, 06:01 PM IST

आज हम जिस कोहिनूर हीरा को जानते हैं, वह मूल आकार का अब आधा ही बचा

ब्रिटेन में रहनेवाली भारतीय पत्रकार अनीता आनंद ने कहा है कि हम आज जिस कोहिनूर को जानते हैं, वह अपने मूल आकार का अब आधा ही बचा है। राजकुमार अल्बर्ट ने इस हीरे की चमक बढ़ाने के लिए इसे कटवाया था।

Jan 21, 2017, 11:47 AM IST

प्रसिद्ध कोहिनूर हीरे को वापस लाने के लिए सभी प्रयास करेगा भारत

भारत प्रसिद्ध कोहिनूर हीरे को वापस लाने के लिए सभी प्रयास करेगा। वर्तमान में शाही मुकुट में जड़ा 106 कैरेट का यह हीरा ‘टावर ऑफ लंदन’ में प्रदर्शन के लिए रखा गया है। और ब्रिटिश सरकार ने हालिया बयान में यह कह कर इसे देने से इनकार किया है कि इसका कोई कानूनी आधार नहीं है।

Jul 31, 2016, 04:24 PM IST