close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

DRDO ने जारी किया 'मिशन शक्ति' का वीडियो, देखें कैसे सैटेलाइट को किया तबाह

'मिशन शक्ति' की सफलता के बाद डीआरडीओ ने 'मिशन शक्ति' से जुड़ा पहला वीडियो जारी किया है.

DRDO ने जारी किया 'मिशन शक्ति' का वीडियो, देखें कैसे सैटेलाइट को किया तबाह
फोटो साभारः PTI

नई दिल्ली: 'मिशन शक्ति' की सफलता के बाद डीआरडीओ ने 'मिशन शक्ति' से जुड़ा वीडियो जारी किया है. एएनआई की तरफ से जारी वीडियो में साफ तौर पर देखा जा रहा है कैसे मिसाइल का प्रक्षेपण हो रहा है. और वह अपने लक्ष्य तक पहुंच रहा है. डीआरडीओ ने 32 सेकेंड का यह वीडिया जारी किया है. मिशन शक्ति' नाम के इस मिशन को डीआरडीओ के वैज्ञानिकों ने सफल बनाया है. भारत ने अंतरिक्ष में एक सैटेलाइट को मार गिराया है. पीएम ने बताया अब तक दुनिया के तीन देश अमेरिका, रूस और चीन को यह उपलब्धि हासिल थी अब भारत चौथा देश है, जिसने आज यह सिद्धी प्राप्‍त की है.

पीएम ने बताया कि एलईओ सैटेलाइट को मार गिराना एक पूर्व निर्धारित लक्ष्य था, इस मिशन को सिर्फ 3 मिनट में पूरा किया गया है. पीएम मोदी ने बताया कि हमारे वैज्ञानिकों ने स्‍पेस में 300 किमी दूर एलईओ ऑरबिट को मार गिराया है. यह एक पूर्व निर्धारित लक्ष्‍य था. इसे ए सेट मिसाइट द्वारा तीन मिनट में मार गिराया गया. मिशन शक्ति अत्‍यंत कठिन ऑपरेशन था.

इससे पहले पीएम मोदी ने मिशन शक्ति को लेकर राष्ट्र को संबोधित करने के तुरंत बाद इस सफल अभियान के संचालन में शामिल वैज्ञानिकों से विडियो कांफ्रेंस के माध्यम से बातचीत की और उन्हें बधाई दी. प्रधानमंत्री ने इस सफलता पर वैज्ञानिकों को बधाई देते हुए कहा कि निर्धारित लक्ष्य को हासिल करने के लिए पूरा देश अपने वैज्ञानिकों पर गर्व कर रहा है.

मोदी ने कहा कि मिशन शक्ति के सफल परीक्षण से भारत उपग्रह रोधी प्रक्षेपास्त्र के माध्यम से उपग्रहों को सफलतापूर्वक निशाना बनाने की क्षमता वाला विश्व का चौथा देश बन गया है. प्रधानमंत्री कार्यालय के बयान के अनुसार, मोदी ने कहा, ‘‘ मेक-इन इंडिया पहल के अनुरूप वैज्ञानिकों ने विश्व को यह संदेश दिया है कि हम किसी से कम नहीं हैं. ’’

उन्होंने कहा कि भारत वसुधैव कुटुंबकम के दर्शन का अनुसरण करता है.  इसके अनुसार पूरा विश्व एक परिवार है. उन्होंने इस बात पर बल दिया कि शांति और सद्भाव के लिए काम करने वाली शक्तियों को शांति की प्राप्ति के लिए हमेशा शक्ति संपन्न बने रहना होगा. प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि वैश्विक शांति और क्षेत्रीय शांति के लिए भारत को सक्षम और मजबूत बनना पड़ेगा.

मोदी ने कहा कि इस प्रयास में वैज्ञानिकों ने समर्पण के साथ योगदान दिया है.  उन्होंने केन्द्रीय मंत्रिमंडल की ओर से वैज्ञानिकों को बधाई दी. बयान में कहा गया है कि वैज्ञानिकों ने इस अवसर पर प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया.