close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ncrb

NCRB का नया खुलासा, दलित-आदिवासियों के खिलाफ अपराध में राजस्थान-एमपी अव्वल

यहां हम आपको एक-एक कर देश के सभी प्रमुख समाचार पत्रों की बड़ी खबर से रू-ब-रू करवाएंगे. 

Nov 25, 2018, 11:09 AM IST

बिहार का कोई थाना अपराध, अपराधियों के डेटाबेस CCTNS से नहीं जुड़ा है : NCRB प्रमुख

एनसीआरबी प्रमुख ने कहा कि 36 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में से 35 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों ने नागरिकों को सेवाएं मुहैया कराने के लिए अपने नागरिक पोर्टल शुरू किए हैं.

Oct 29, 2018, 10:59 PM IST

दिल्ली हाईकोर्ट ने पूछा, NCRB क्या अपराध से जुड़े केवल आंकड़े जुटाता है?

 दिल्ली हाईकोर्ट ने राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) से पूछा कि क्या वह अपराध से जुड़े केवल आंकड़े एकत्र करता है और अपराध के बारे में विवरण नहीं रखता. 

Jul 17, 2018, 11:45 PM IST

पत्रकारों के खिलाफ अपराध का सालाना डेटाबेस तैयार करेगा NCRB

यह फैसला ऐसे समय आया जब पत्रकारों के एक समूह ने पिछले साल 27 अक्तूबर को गृह मंत्री राजनाथ सिंह के सामने यह मांग की थी.

Apr 9, 2018, 10:47 PM IST

बच्चे नहीं, समाज और व्यवस्था के विवेक का अपहरण हुआ है!

भारत में बहुत तेज़ी से सामाजिक-पारिवारिक व्यवस्था के तहत बच्चों की सुरक्षा व्यवस्था कमज़ोर हो रही है. बच्चे घर और परिवार में भी अकेले होने लगे हैं. 

Mar 31, 2018, 02:30 PM IST

21वीं सदी और बच्चों के प्रति अपराध में 889% वृद्धि के मायने

हाल ही में भारत की महत्वपूर्ण सरकारी संस्था राष्ट्रीय अपराध अभिलेख ब्यूरो (एनसीआरबी) ने वर्ष 2016 में हुए अपराधों का आंकड़ा जारी किया. हर साल ये आंकड़े जारी होते हैं, अखबारों-टीवी चैनल पर आते हैं. हम दुःख मनाते हैं और अपने रोज़मर्रा के काम में जुट जाते हैं. यही आज के समाज और राज्य व्यवस्था की सीमा है.

Mar 27, 2018, 09:01 PM IST

भारत में हर 15 मिनट में एक दलित का होता है उत्‍पीड़न, मध्‍यप्रदेश-राजस्‍थान में हालात बुरे : NCRB

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी)के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 10 साल (2007-2017) में दलित उत्पीड़न के मामलों में 66 फीसदी की वृद्धि दर्ज हुई. 

Mar 15, 2018, 09:52 AM IST

हरियाणा में पिछले साल बलात्कार के 1,189 मामले हुए दर्ज, 44 % नाबालिग हुईं शिकार

 हिसार के उकलाना गांव में एक पांच साल की बच्‍ची के साथ बलात्‍कार कर उसकी निर्ममता से हत्‍या कर दी गई.

Dec 10, 2017, 10:23 AM IST

साल 2016 में दंगों, गुट झड़प के 61,974 मामले : एनसीआरबी

 देश में 2016 में दंगों और गुटीय झड़पों के कुल 61,974 मामले दर्ज किए गए

Dec 1, 2017, 02:54 PM IST

DNA: हर 15 मिनट में बलात्कार की एक घटना

NCRB की रिपोर्ट के मुताबिक, वर्ष 2016 में देशभर में रेप के कुल 38 हज़ार 947 मामले दर्ज किए गए

Dec 1, 2017, 12:17 AM IST

ZEE जानकारी: रेप के 95 फीसदी मामलों में आरोपी पीड़ित के जानने वाले

महिलाओं के अपहरण के मामलों में से आधे मामले ज़बरदस्ती शादी करने के थे. हर घंटे कम से कम 3 महिलाओं के अपहरण....ज़बरदस्ती शादी करने के लिए हुए.

Nov 30, 2017, 11:43 PM IST

देश के 19 बड़े शहरों में अपराध के मामले में दिल्ली टॉप पर : NCRB

बीस लाख से अधिक की आबादी वाले 19 प्रमुख शहरों में पिछले साल महिलाओं के खिलाफ कुल 41,761 मामले दर्ज किये गए. इनमें से 33 प्रतिशत यानी 13,803 मामले अकेले दिल्ली में सामने आए.

Nov 30, 2017, 07:18 PM IST

अपराध की सूची में टॉप पर उत्तर प्रदेश : NCRB

देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में हत्या की घटनाएं सबसे ज्यादा हुईं. यहां हत्या की 4,889 घटनाएं हुईं, जो ऐसे कुल मामलों का 16.1 फीसदी है.

Nov 30, 2017, 05:46 PM IST

क्या हिंसक प्रतिस्पर्धा का दबाव मौत को आसान बना देता है?

जिस आर्थिक विकास की अवधारणा और नीति को हमने अपनाया है, उसमें सबसे आगे रहना ही मायने नहीं रखता है; इसमें जरूरी है सबको पीछे छोड़कर आगे बढ़ना. जीवन के पहले दूसरे साल में ही बच्चों को यह जता दिया जा रहा है कि आगे निकलो, सब कुछ रट डालो. चौबीसों घंटे कुछ न कुछ सीखते रहो. कुदरत से, समाज से, अपने आस-पड़ोस से कुछ मत सीखना.

Oct 12, 2017, 01:22 PM IST

Zee जानकारी : इमारत गिरने से पिछले कुछ वर्षों में हजारों लोग मारे गए

-वर्ष 2016 में NCRB ने एक रिपोर्ट जारी की थी। -इस रिपोर्ट में बताया गया था, कि वर्ष 2010 से लेकर वर्ष 2014 तक 13 हज़ार 178 लोग अलग-अलग इमारतों और ढांचों के गिरने की वजह से मारे गए थे। -औसत के लिहाज़ से देखा जाए, तो इस दौरान देश में हर दिन ऐसे सात हादसे हुए, जिनमें इमारत के नीचे दबने की वजह से लोगों की जान गई।

Jul 25, 2017, 11:39 PM IST

पंखे से लटककर आत्महत्या करने वालों को रोकने के लिए कारगर सिद्ध होगा ये अविष्कार...

नई दिल्लीः आज के इस भाग-दौड़ भरे दौर में डिप्रेशन और अवसाद हर किसी की जिंदगी का मानों हिस्सा बन चुके है. ऐसे में किसी को अगर अपनों का सहारा मिल जाता है तो इस मुश्किल दौर से पार पा जाता है. लेकिन जिसके पास कोई अपना नहीं होता वो इस अवसाद में ही अपनी जीवन लीला समाप्त कर लेता है.

Apr 10, 2017, 12:44 PM IST

Zee जानकारी : मृत किसानों की खोपड़ी के साथ प्रदर्शन कर रहे तमिलनाडु के किसान

आजादी से पहले वर्ष 1936 में भारत के महान लेखक मुंशी प्रेमचंद ने एक प्रसिद्ध उपन्यास लिखा था, जिसका नाम था गोदान। जिसमें भारत के किसानों की दुर्दशा का वर्णन किया गया है। गोदान में होरी नाम का एक किसान जीवन भर कर्ज में दबा रहता है और कर्ज के बोझ के साथ ही मर जाता है। अंतिम समय में गोदान करवाने के लिए होरी की पत्नी धनिया फिर से कर्ज लेती है यानी गोदान का किसान कर्ज में ही जीता है और कर्ज में ही मर जाता है। अफसोस इस बात का है कि आजादी के करीब 70 वर्षों के बाद भी देश के किसानों की हालत वैसी ही है जैसी मुंशी प्रेमचंद ने अपने उपन्यास और कहानियों में दिखाई थी। आज हम आपको देश के उन किसानों की आवाज़ सुनाएंगे, जिनकी कहीं सुनवाई नहीं होती। ये तमिलनाडु के वो किसान हैं, जो पिछले कई दिनों से देश की राजधानी दिल्ली में मृत किसानों की खोपड़ी के साथ प्रदर्शन कर रहे हैं। 

Mar 25, 2017, 12:00 AM IST

Zee जानकारी : भारत की सड़कों पर लोग अपनी मौत को बुलावा देते हुए चलते हैं

ये सच है कि मौत बताकर नहीं आती लेकिन ये भी सच है कि भारत की सड़कों पर लोग अपनी मौत को बुलावा देते हुए चलते हैं। इसलिए बेमौत मारे जाने वाले भारतीयों में सबसे ज्यादा लोग सड़क हादसों में ही मरते हैं। ये वो कड़वा सच है जिससे मुंह नहीं चुराया जा सकता, आंकड़े भी इसकी गवाही देते हैं।

Jan 23, 2017, 11:30 PM IST

Zee जानकारी : देश में 2014 के मुकाबले 2015 में सड़क हादसे 5 प्रतिशत बढ़े

DNA में अब हम उस राक्षस का विश्लेषण करेंगे जो हर साल भारत के लाखों लोगों की जान ले रहा है। हम भारत में होने वाली सड़क दुर्घटनाओं की बात कर रहे हैं। नेशनल क्राइम रिकॉर्डस ब्यूरो ने वर्ष 2015 के आंकड़े जारी किए हैं। जिनके मुताबिक 2014 के मुकाबले 2015 में सड़क हादसे 5 प्रतिशत बढ़े हैं। ये आंकड़ें बहुत चौंकाने वाले और डराने वाले हैं। इसलिए इनके बारे में देश के हर नागरिक को पता होना चाहिए। हमें उम्मीद है कि इन आंकड़ों को देखने के बाद आप सड़क पर पहले से ज़्यादा सावधानी बरतेंगे।

Jan 10, 2017, 11:42 PM IST

2013 में भारत में दर्ज हुए बलात्कार के 33707 मामले, मध्य प्रदेश सबसे ऊपर

वर्ष 2013 के दौरान पूरे देश में बलात्कार के 33707 मामले दर्ज किये गए जिसमें सबसे अधिक मामले मध्य प्रदेश में दर्ज किये गए और जिसके बाद महाराष्ट्र, राजस्थान और उत्तर प्रदेश हैं।

Jul 2, 2014, 11:47 PM IST