Girijesh Kumar

किस्सा-ए-कंज्यूमर : ऑनलाइन कंपनी से आपको मिला है रिफंड?

किस्सा-ए-कंज्यूमर : ऑनलाइन कंपनी से आपको मिला है रिफंड?

अमेजन, फ्लिपकार्ट, स्नैपडील आज हमारी आदतों में शुमार हैं. ई-कॉमर्स की क्रांति ने शॉपिंग को ऐसा खेल बना दिया है कि हम अक्सर जरूरी-गैरजरूरी चीजें ऑर्डर करते रहते हैं.

किस्सा-ए-कंज्यूमर : ATM फेल और बैंकों का 'खेल'

किस्सा-ए-कंज्यूमर : ATM फेल और बैंकों का 'खेल'

ऑटोमेशन है तो आफत है. मशीन है तो मुसीबत है. यूं तो ऑटोमेटेड टेलर मशीन यानी एटीएम बना है आपको चुटकियों में कैश देने के लिए लेकिन वही एटीएम जब मजाक के मूड में हो तो पसीने छुड़ा देता है.

किस्सा-ए-कंज्यूमर : मोबाइल बिल दा मामला है!

किस्सा-ए-कंज्यूमर : मोबाइल बिल दा मामला है!

जेबकतरों के बारे में जरूर सुना होगा आपने. चलते फिरते आपकी जेब काट लेते हैं और आपको हवा तक नहीं लगती. कई बार टेलीकॉम कंपनियां भी यही करती हैं.

किस्सा-ए-कंज्यूमर : एयरलाइन सताए तो क्या है उपाय?

किस्सा-ए-कंज्यूमर : एयरलाइन सताए तो क्या है उपाय?

हवाई सफर की बात ही अलग है. सबसे तेज, सबसे आरामदायक और जेब इजाजत दे तो सबसे अच्छा भी. लेकिन जहां सर्विस है वहां सर्विस में कमी भी जरूर होगी.

किस्सा-ए-कंज्यूमर : अगली बार कैरी बैग का पैसा मत देना!

किस्सा-ए-कंज्यूमर : अगली बार कैरी बैग का पैसा मत देना!

अगर आपके शहर में प्लास्टिक बैन है तो आपके साथ भी ऐसा जरूर हुआ होगा.

किस्सा-ए-कंज्यूमर: कंज्यूमर की शिकायत, बिल्डर की शामत

किस्सा-ए-कंज्यूमर: कंज्यूमर की शिकायत, बिल्डर की शामत

बड़े खुशनसीब होते हैं वो लोग जिन्हें अपने बिल्डर से कोई शिकायत नहीं होती.

किस्सा-ए-कंज्यूमर: जब कंज्यूमर की कसम ने तोड़ा कंपनी का गुरूर

किस्सा-ए-कंज्यूमर: जब कंज्यूमर की कसम ने तोड़ा कंपनी का गुरूर

एक तरफ अकेला कंज्यूमर और दूसरी तरफ दादागीरी पर उतारू एक दिग्गज ऑटो कंपनी, लेकिन कंज्यूमर की ज़िद और कानून के डंडे का असर ये हुआ कि कंपनी को घुटने टेकने पड़े.

किस्सा-ए-कंज्यूमर: ...क्योंकि स्टूडेंट भी कंज्यूमर है

किस्सा-ए-कंज्यूमर: ...क्योंकि स्टूडेंट भी कंज्यूमर है

वो डॉक्टर बनना चाहता था. तैयारी के लिए उसने कोचिंग की. फिर एक जाने-माने मेडिकल कॉलेज में टेस्ट दिया. लेकिन टेस्ट में फेल हो गया. उसने अपने कोचिंग इंस्टीट्यूट पर केस ठोक दिया. और केस जीत भी गया.

किस्सा-ए-कंज्यूमर: शॉपिंग से डर नहीं लगता साहब! नकली सामान से लगता है

किस्सा-ए-कंज्यूमर: शॉपिंग से डर नहीं लगता साहब! नकली सामान से लगता है

कागज का डिब्बा और डिब्बे में लोहे का टुकड़ा. पिछले दिनों ये तस्वीर सोशल मडिया पर खूब वायरल हुई. वायरल होने की 3 वजहें थीं.

किस्सा-ए-कंज्यूमर: रुकावट के लिए 'कंज़्यूमर कोर्ट' है

किस्सा-ए-कंज्यूमर: रुकावट के लिए 'कंज़्यूमर कोर्ट' है

बड़े अरमान से आप घर में टीवी लाते हैं लेकिन चंद ही रोज में टीवी अपने रंग दिखाने लगता है. स्क्रीन बिगड़ने लगती है. कंपनी से शिकायत करते हैं तो कंपनी गोल गोल जवाब मिलता है.