• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 2,59,557 और अबतक कुल केस- 7,19,665: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 4,39,948 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 20,160 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 60.85% से बेहतर होकर 61.13% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 15,515 मरीज ठीक हुए
  • कोविड परीक्षण का आंकड़ा 1 करोड़ के पार: कोविड प्रयोगशालाओं की कुल संख्या 1,100 से ज्यादा हुई
  • NATMO 19 द्वारा http://geoportal.natmo.gov.in/Covid पर COVID-19 डैशबोर्ड का अद्यतन संस्करण प्रकाशित किया गया है
  • सिंगल मैप विंडो, कोविड आंकड़े, 'ड्रिल डाउन' अप्रोच के साथ डेटा की प्रस्तुति, पिछले 14 दिनों में राज्यों की स्थिति पर जोर
  • विश्व बैंक और भारत सरकार में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों हेतु ‘आपातकालीन उपाय कार्यक्रम’ के लिए 750 मिलियन डॉलर का समझौता
  • विश्व बैंक ने भारत की कोविड-19 की लड़ाई में आपातकालीन उपायों के लिए 2.75 अरब डॉलर की मदद देने की घोषणा की थी
  • सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय: बेहतरीन सेवा के लिए सड़कों की रैंकिंग तैयार करेगी एनएचएआई
  • राज्य सरकारों के साथ विचार-विमर्श से देश में उर्वरक का पर्याप्त स्टॉक पहले से ही उपलब्ध है

संदिग्ध बलात्कारियों को खुद सजा देने उतरे लोग

तेलांगना में पशु चिकित्सक की रेप करने के बाद जला कर नृशंस हत्या कर देने का मामला उबाल ले चुका है. लोग आक्रोशित हो चुके हैं और विरोध करना शुरू कर दिया है. हैदराबाद में इसका असर दिखा. भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस ने लाठियां बरसानी शुरू कर दी.   

संदिग्ध बलात्कारियों को खुद सजा देने उतरे लोग

हैदराबाद: तेलांगना के शमशाबाद में पीड़िता की रेप कर हत्या के मामले के बाद लोगों ने जब विरोध करना शुरू किया तो पुलिस ने भीड़ पर लाठियां बरसा कर सबको तितर-बितर कर दिया. थाने के बाहर लोग महिला पशु चिकित्सक से बलात्कार और जला कर हत्या कर देने वाले आरोपियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. भीड़ को बेकाबू होता देख पुलिस ने लाठीचार्ज करना शुरू कर दिया. भीड़ छंट गई लेकिन  फिर कहीं जमा हो कर विरोध करना शुरू कर दिया.

भीड़ ने कहा अदालत तक जाते-जाते देर हो जाएगी

आक्रोशित लोगों ने आरोपियों को सख्त सजा देने की मांग की. शादनगर पुलिस थाने के बाहर जहां आरोपियों को जेल में बंद कर के रखा गया है, वहां भीड़ एकत्रित कर आरोपियों के खिलाफ उन्हें सजा देने की मांग करने लगी. कुछ लोगों ने कहा कि इन्हें मौत के घाट उतार दिया जाए तभी सही सजा मिलेगी. कुछ लोगों ने कहा कि अगर इन्हें अदालत ले जाएंगे तब तक काफी देर हो जाएगी. यह पर्याप्त नहीं होगा. इनके साथ भी वैसा ही व्यव्हार करना चाहिए जैसा इन्होंने पीड़िता के साथ किया.

पुलिस पर फेंके गए चप्पल भी

शादनगर पुलिस थाना राजधानी हैदराबाद से तकरीबन 50 किमी की दूरी पर है. पुलिस थाने के सामने लोगों ने नारेबाजी शुरू की और प्रदर्शन करना शुरू कर दिया. इसमें हर उम्र के लोग थे. उनका कहना है कि आरोपियों को बिना कुछ पूछे और सुनवाई के जितनी जल्दी फांसी पर लटका दिया जाए. प्रदर्शनकारी ने फिर बाद में विरोध करते-करते पुलिस पर चप्पल फेंकने शुरू कर दिए जिसके बाद बेकाबू होती भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा. 

लोगों ने कहा कि अगर आप ऐसा नहीं करते तो हैं तो आरोपियों को हमें सौंप दें, हम उनका इलाज कर देंगे. हालांकि पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को कहा कि वे आरोपियों को सजा जरूर दिलाएंगे. उन्होंने भीड़ से सहयोग की मांग की लेकिन आक्रोशित भीड़ ने कहा कि जल्द से जल्द कोई फैसला लिया जाए तब ही वे शांत हो पाएंगे. चारों आरोपी युवक हैं और ट्रक ड्राइवर हैं, जिन्होंने पशु चिकित्सक को अकेला पा कर उसकी नृशंस हत्या कर दी.