Zee Rozgar Samachar

दयाशंकर मिश्र

Digital Editor . डिप्रेशन और आत्‍महत्‍या के विरुद्ध भारत में अपनी तरह की पहली #Digital सीरीज #Dearजिंदगी के लेखक

उत्तर प्रदेश का पहला FSTP प्लांट बनकर तैयार, मलबा निस्तारण की समस्या होगी दूर

उत्तर प्रदेश का पहला FSTP प्लांट बनकर तैयार, मलबा निस्तारण की समस्या होगी दूर

उन्नाव: यूपी का पहला और देश का दूसरा एफएसटीपी (फिकल स्लज ट्रीटमेंट प्लांट) अपशिष्ट शोधन संयंत्र उन्नाव में बनकर तैयार हो चुका है.

कोरोना काल में घपला! नगर पालिका सभासद का आरोप, शहर में नकली सैनिटाइजर छिड़कर लूटे लाखों रुपये

कोरोना काल में घपला! नगर पालिका सभासद का आरोप, शहर में नकली सैनिटाइजर छिड़कर लूटे लाखों रुपये

दयाशंकर/उन्नाव: उन्नाव नगर पालिका के वॉर्ड 28 से सभासद यासीन अहमद 'शीबू' ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर आरोप लगाया कि नगर पालिका में सैनेटाइजेशन के नाम पर सिर्फ और सिर

उन्नाव की मासूम को मिला इंसाफ, रेप और हत्या का आरोपी पुलिस गिरफ्त में

उन्नाव की मासूम को मिला इंसाफ, रेप और हत्या का आरोपी पुलिस गिरफ्त में

उन्नाव :  उत्तर प्रदेश के उन्नाव में मासूम के साथ हुई दरिंदगी मामले में पुलिस को कामयाबी हाथ लगी है. पुलिस ने 136 दिन बाद आखिरकार गांव के रहने वाले आरोपी मनोज पासी को धर दबोचा.

उन्नाव: एक्सप्रेस-वे पर पलटी प्रवासियों से भरी बस, ड्राइवर को नींद की झपकी आने से हुआ हादसा

उन्नाव: एक्सप्रेस-वे पर पलटी प्रवासियों से भरी बस, ड्राइवर को नींद की झपकी आने से हुआ हादसा

दया शंकर/उन्नाव: उत्तर प्रदेश के उन्नाव में बुधवार को प्रवासी श्रमिकों को लेकर जा रही एक निजी बस अनियंत्रित होकर लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर पलट गई.

UP: निर्भया के दोषियों को गरुड़ पुराण सुनाने की तैयारी, जेल सुधारक ने मांगी अनुमति

UP: निर्भया के दोषियों को गरुड़ पुराण सुनाने की तैयारी, जेल सुधारक ने मांगी अनुमति

उन्नाव: निर्भया केस के गुनहगारों को फांसी पर लटकाने से पहले गरुड़ पुराण सुनाने की तैयारी है.

डियर जिंदगी: सबको बदलने की जिद!

डियर जिंदगी: सबको बदलने की जिद!

दूसरों को अक्‍सर हम अपने जैसा देखना चाहते हैं . वैसा देखना चाहते हैं , जैसा हमें प्रिय है. अगर वह हमारी सोच के पैमाने जैसे हैं, तो ठीक, नहीं तो हम चाहते हैं कि वह हमारी सोच जैसे हो जाएं.

डियर जिंदगी: ओ! सुख कल आना…

डियर जिंदगी: ओ! सुख कल आना…

जब हम छोटे होते हैं, तो प्रसन्‍नता स्‍वभाव का स्‍थाई भाव होती है. सुख स्‍वत: मिजाज में शामिल होता है. यह सोचकर खुश नहीं होते कि यह ‘खुश’ होने की चीज है कि नहीं.

डियर जिंदगी: कड़वे पल को संभालना!

डियर जिंदगी: कड़वे पल को संभालना!

कौन है, जिसे जीवन में कभी कड़वे घूंट नहीं पीने पड़े. कभी, जिंदगी की कड़वी सच्‍चाई से दो-चार नहीं होना पड़ा. कभी ऐसा नहीं लगा कि काश! यह नहीं सुनना पड़ता. काश!

डियर जिंदगी: यकीन रखें, यह भी गुजर जाएगा…

डियर जिंदगी: यकीन रखें, यह भी गुजर जाएगा…

‘डियर जिंदगी’ आरंभ हुए कुछ महीने ही बीते थे. फेसबुक मैसेंजर पर उनका संदेश मिला, ‘मैं इस जिंदगी से तंग आ चुकी हूं. नई शुरुआत करना चाहती हूं, लेकिन हिम्‍मत नहीं जुटा पाती.

डियर जिंदगी: मित्रता की नई ‘महफिल’!

डियर जिंदगी: मित्रता की नई ‘महफिल’!

राजस्‍थान के झुंझुनूं से रंजीत तिवाड़ी लिखते हैं, ‘सरकारी नौकरी करने वाले बेटे के फेसबुक पर पांच हजार से अधिक दोस्‍त हैं. असल जिंदगी में मुश्किल से पांच.